Thursday, December 3TRUSTED FEARLESS INTERNATIONAL & NATIONAL NEWS PORTAL

करोना वायरस की वैक्सीन DEC 20 भारतीय डॉक्टर और वैज्ञानिक के साथ बना रहें है -डोनाल्ड ट्रम्प

प्रोफेसर डॉ राम के जानेमाने भारत के बहुत प्रसिद्ध चिकित्सक और प्राध्यापक हैं मेडिकल कालेज में MBBS और MD MS की पढाई करने वाले स्टूडेंट्स को पढ़ते हैं और बहुत सरे ब्लॉग और पत्र पत्रिकाओं पर लिखते हैं,इस वीडियो चैनल पर वो आम जनता को तरह तरह के रोगो के बारे में बताएँगे और अभी करोना ने जो जहर फैलाया है उसने सभी लोगो को करोना चिंता फिक्र और मौत से डरा दिया है,पूरी दुनिया सुन्ना होकर करोना घर में बंद हो गयी है,इस चैनल पर वो करोना तथा दूसरे रोगो की चर्चा करेंगे,करोना वायरस चीन के वहांn शहर से १९ में निकल कर पूरी दुनिया में इसने तबाही मचा दी है,पुरे विश्व में २२0 देश इससे संक्रमित हो चुके हैं,
करोना वायरस के बारे में दुनिया के सबसे बड़े सशक्त राष्ट्र के राष्ट्रपति श्री डोनाल्ड ट्रंप जी ने भारत के चिकित्सक तथा वैज्ञानिक जो इस दवा की वैक्सीन बनाने की खोज में लगे हुए हैं उनकी बहुत प्रशंसा की और उन्होंने यह पूरे अंतरराष्ट्रीय मंच पर माना कि भारत के जितने भी विज्ञानिक है उनकी मदद से अमेरिका बहुत जल्दी ही एक टीके की तैयारी कर ले गा और यह टीका बाजार में लगभग 2020 के दिसंबर तक आ जाएगा तो इस तरह से भारत के चिकित्सक और वैज्ञानिकों का सम्मान दुनिया में बढ़ गया है उन्होंने इसके साथ एक बात और भी कहीं की इसके लिए उन्होंने गिलियर्ड कंपनी के पुराने वैक्सीन के प्रधान को इसके लिए पूरा भार दिया है उन्होंने यह भी कहा कि भारत उनका बहुत अच्छा मित्र है
उन्होंने हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सराहना करते हुए कहा कि भारत को अमेरिका काफी सारे वेंटिलेटर देगा और इसके लिए हमारे प्रधानमंत्री ने भी उनका शुक्रिया अदा किया परंतु यह बात पता नहीं चल सकी कब हमारे प्रधानमंत्री ने अमेरिका से वेंटिलेटर मांगे थे क्योंकि हमारे देश में अभी काफी संख्या में अच्छे वेंटिलेटर हैं सभी वेंटिलेटर उपयोग में भी नहीं लाए गए हैं और भारत में बहुत सारी कंपनियां जैसे महिंद्रा सुजुकी इत्यादि हमारे प्रधानमंत्री के कहने पर वेंटिलेटर बनाने में जुट गई मैं एक और बात इस संदर्भ मैं बताना चाहता हूं कि कल विश्व स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल ने भी बताया कि लगभग 9 कंपनियां वैक्सीन बनाने के बहुत नजदीक तक पहुंच चुकी है और शायद दिसंबर के अंत तक वैक्सीन बन जाए उन्होंने बताया कि गिलियर्ड साइन फाइजर ग्लास्गोस्मिथकलाइन सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया सनोफी आदि कई कंपनियां वैक्सीन बनाने में जी जान से जुड़ी भी इसलिए हमें अब डरना नहीं हम जल्दी ही करो ना पर बहुत बड़ी विजय प्राप्त कर लेंगे
बताना चाहता हूं कि बहुत सारी दवाओं पर भी काम चल रहा है एक दवा एस टी आई 1 499 को पटना की एक कंपनी अमेरिका के कंपनी के साथ मिलकर बना रही है इसका जानवरों पर परीक्षण पर कोविड-19 से कंट्रोल किया गया और जल्दी ही मनुष्य पर यह परीक्षण होगा उसी तरह से चाइना के अंदर पाया गया कि लोपिनावीर तथा रिटोनावीर के साथ एचआईवी की दवा अच्छा काम करती है हमारे पास ऑलरेडी मौजूद हाइड्रोक्सी क्लोरीन की गोलियां बहुत अच्छा काम करती है फ्लाविप्रवीर और रेडीसमवीर दबाव को एचआईवी पेशेंट की तरह चाइना में पाया गया कि यह दवाएं कोविड-19 को भी रोक रही हैं और इसीलिए हमारे देश के स्वास्थ्य मंत्री ने भी इनका जेनेरिक वर्शन बनाने के लिए भारतीय कई कंपनियों को लाइसेंस प्रदान कर दिया और अब यह दवा कम दाम में भारत तथा अन्य गरीब देशों में भी मिल सकेगी यानी कुल मिलाकर यह बताना है कि चाहे करोना वायरस हमारे देश में कई वर्षों तक रहे परंतु हम उसको उसी तरह कंट्रोल कर लेंगे जिस तरह से हमने इन्फ्लूएंजा को किया सार्स वायरस को किया या फिर डेंगू को कर रहे हैं या और किसी दूसरे फ्लू वायरस को कर रहे हैं
इसलिए जब तक यह दवाएं अच्छी तरह से नहीं आती है हमें एक दूसरे से 2 फीट की दूरी मास्क लगाकर यहां वहां की अगर वस्तुएं हम छुए तो बराबर हाथों को धोकर जीना पड़ेगा धीरे-धीरे हमारे मॉल हमारे बाजार ऑफिस दुकाने स्कूल कॉलेज खोलनी पड़ेगी हमें अब यह सीख लेना पड़ेगा कि हमें किस तरह जीना है और अगर हम यह सब नियम लेकर मानेंगे तो यह वायरस नहीं हमारे पास आएगा क्योंकि इस वायरस की एक ही बीमारी है यह ज्यादा जल्दी फैलता है इतना भयंकर नहीं होता जैसा कि सार्थ वायरस होता है उसमें मौतें ज्यादा होती है
इसलिए हम घबराए नहीं क्योंकि यह वायरस हमें पॉजिटिव भी हो गया और अगर हमने संक्रमण को ठीक से रोका अपने आप को क्वॉरेंटाइन किया तो यह वायरस खत्म हो जाएगा ज्यादातर लोगों में यह सीरियस बीमारी नहीं करता और करता भी है तो रिकवरी बहुत अच्छी होती है इसलिए अब हमें करो ना के साथ जीने को सीखना पड़ेगा/
करोना और सेक्स का क्या समबन्ध है ,करोना में सेक्स करें या नहीं,सेक्स से क्या करोना ज्यादा फैलता है? सेक्स मंडिया या रेड लाइट एरिया करोना में खोलनी चाहिए या नहीं ,सेक्स कर्मी क्या खाएंगे ,सेक्स कर्मी को मुवावज़ा मिले या नहीं,करोना में दारू खोल दिया, सेक्स खोलने में क्या,क्या करोना घर में एक साथ रहकर लोग सेक्स नहीं कर रहे,करोना में एबॉर्शन ज्याद बढ़ गया, करोना के समय लोगो ने ज्यादा सेक्स किया, अपने घरो में तो सेक्स मंडिया खोलें में क्या एतराज ,सेक्स तो बार में मैसेज सेंटर और ब्यूटी पारलर सब जगह होते,क्या हम इन सबको बंद कर देंगे करोना के डर से,ये बात हमारे दूसरे वीडियो में देंखे और पढ़े /
हमने एक दूसरे वीडियो में ये भी बताया है की आरोग्य सेतु ऐप करोना रोकेगा, इसका लोड करना कितना खतरनाक है,मोबाइल में इसे लोड करें या नहीं ,इसको लोड करने में क्या हानि है,क्या हमारा इससे कुछ नुकसान होगा ,हमें इसे लोड करना चाहिए या नहीं ,इसको बनाने में कौन प्राइवेट लोग हैं ,क्या उनपर विस्वास किया जा सकता है,क्या वे हर्रा डाटा नहीं चुरायेंगे,इस अप्प को क़ानूनी मान्यता तो नहीं,कितने दिन बाद ये बंद हो जायेगा ,सिंगापूर और साउथ कोरिया में अच्छा फल मिला ,सर्कार ने वंहा ये ऐप बनाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *